Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana UP: किसानों को मिलेगी 1.43 लाख अनुदान

UP Khet Suraksha Yojana: खेत की तारबंदी योजना उत्तर प्रदेश के किसानों को मिलेगी सब्सिडी

UP Khet Suraksha Yojana: योगी सरकार किसानों के हित में लगातार कार्य कर रही है। उन्हें ध्यान रखते हुए नई सरकारी योजनाओं को तैयार किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के किसान छुट्टा व आवारा पशुओं से काफी परेशान थे, ऐसे में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया। खेत की तारबंदी योजना उत्तर प्रदेश में शुरू करने की घोषणा कर दी गयी है। इस योजना का नाम मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना (Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana UP) निर्धारित किया गया है। आइए इस योजना से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानते हैं।

Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana UP Details in Hindi

मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने किसानों की समस्या को समझते हुए राज्य में मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना (Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana UP) को शुरू करने का निर्णय लिया है। उत्तरप्रदेश में इस योजना को योगी खेत सुरक्षा योजना व तारबंदी योजना के नाम से भी जाना जाता है। जानकारी के अनुसार किसान ऑनलाइन फॉर्म भरकर योजना का लाभ ले  पाएंगे। पहले यह योजना सिर्फ बुंदेलखंड क्षेत्र में उपलब्ध थी, लेकिन अब मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना को पूरी उत्तरप्रदेश में लागू कर दिया गया है।

UP Khet Suraksha Yojana- कंटीले तार पर रोक

जैसा की हम सभी जानते हैं कि उत्तरप्रदेश (UP) में छुट्टा पशु किसानों के​ लिए बड़ी समस्या है। इन आवारा पशुओं की वजह से किसानों की फसलें बर्बाद हो जाती हैं। इससे किसानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता था। किसानों ने अपनी फसल को बचाने के लिए किसान कंटीले तार लगाकर खेतों की सुरक्षा की, लेकिन इससे पशुओं के जख्मी होने के मामले सामने आने लगे। इस कारण सरकार ने इस पर पाबंदी लगा दी।

सोलर तार फेंसिंग से पशु व फसल की सुरक्षा

मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना (Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana) के अंतर्गत योगी सरकार ने कुछ ऐसा निर्णय लिया है जिससे फसल और पशुओं दोनों की सुरक्षा होगी। अब किसानों के खेत के आस पास सोलर फेंसिंग की जाएगी। इन तारों में महज 12 बोल्ट का करंट प्रवाहित होगा। इसके नजदीक आने से पशु को हल्का सा झटका लगेगा, जिससे वह दूर हो जाएगा और उसे हनी भी नहीं पहुंचेगी। हलके से झटके के साथ तेज सायरन की आवाज भी होगी, जिससे पशु खेत से दूर चला जाएगा।

मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना का उद्देश्य

उत्तरप्रदेश के किसान छुट्टा या जंगली जानवर जैसे नीलगाय, बंदर, सुअर आदि के खेत में घुसकर नुकसान करने से काफी परेशान थे। ख़ास कर लघु-सीमांत किसानों को सिमित खेत होने की वजह से अधिक नुकसान झेलना पड़ता था। ऐसे में किसान की समस्या को समझते हुए योगी सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना को शुरू किया गया है। योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसल को आवारा पशुओं से बचाना है, जिसमें पशु को भी किसी प्रकार की हानि न पहुंचे।

उत्तरप्रदेश खेत सुरक्षा योजना लाभ व विशेषताएं

  • पहले यह योजना सिर्फ बुंदेलखंड क्षेत्र में ही लागू थी, अब Mukhyamantri Khet Suraksha Yojana को पूरे UP में लागू कर दिया गया है।
  • योजना के बजट में भी विस्तार किया गया है, इसे 75 करोड़ से बढ़ाकर 350 करोड़ रुपए कर दिया गया है।
  • लघु-सीमांत किसानों को सब्सिडी (Subsidy) दी जाएगी।
  • प्रति हेक्टेयर लागत पर 60 फीसद या 1.43 लाख रुपए की सब्सिडी दी जाएगी।
  • इस योजना के लिए कृषि विभाग द्वारा ड्राफ्ट तैयार किया जा चुका है।
  • जल्द ही इसे कैबिनेट में भेजा जाएगा।
  • वहां से मंजूरी मिलने के बाद योगी खेत सुरक्षा योजना को पूरे उत्तरप्रदेश में लागू किया जाएगा।

उत्तरप्रदेश खेत सुरक्षा योजना ऑनलाइन फॉर्म (Online Form)

फिलहाल उत्तरप्रदेश खेत सुरक्षा योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। जैसे ही योगी सरकार के द्वारा इस योजना को प्रदेश में लागू किया जाएगा, उसके बाद ही ऑनलाइन फॉर्म भरे जाएंगे। योजना के लागू होने के बाद आपको इससे जुडी ताज़ा अपडेट हमारी वेबसाइट किसान सुचना पर जरूर दी जाएगी। साथ ही आवेदन कैसे करें इसके बारे में भी जानकारी दी जाएगी। आप योजना के बारे में अपने नजदीकी कृषि विभाग से भी संपर्क करते रहें।

Leave a comment